#opennepal

ओपन नेपाल

नवंबर-दिसंबर 2015
Sergey Sotnikov
United Geo
अप्रैल 2015 में हुए भूकंप के कारण नेपाल की कमजोर बुनियादी ढांचे नष्ट हो चुकी थी।नवंबर में ओपन ओपन नेपाल के तहत मेने नेपाल की सीमा क्षेत्रों की जांच करने का फैसला किया योजना के अनुसार भूकंप के बाद यह सीमा 3 देशों की सीमा को पार कर रही थी
आगे भ्रमित ना होने के लिए हम इस वर्तमान यात्रा को मेरे इस अभियान का पहला भाग और भविष्य में होने वाले यात्रा को दूसरा भाग कहेंगे. दूसरे भाग की यात्रा भारत के दार्जिलिंग से काठमांडू और लद्दाख तक की होगी यह तिब्बत की राजधानी है जो चीन का स्वायत्त क्षेत्र हैं।
और 2015 के अंत में नेपाल की सीमा में जो मैंने देखा था वह था
शांति के क्षेत्र

नेपाल तिब्बत और भारतीय रियासतो के लिए शांति की भूमि थी और सदियों के लिए हिमालय में रहने वाले कई लोगों के लिए पानी का स्तोत्र रहा है। आजकल चीनी और भारतीय सरकारों की सूची केवल नेपाली पहाड़ी नदियों की ऊर्जा है जब से नेपाल ने सुबह को एक राज्य के रुप में मजबूत और स्वतंत्र किया है तब से पड़ोसी देशों से राजनीतिक और आर्थिक दबाव में भी वृद्धि हुई है।
बोरिस लिसानेविच के द्वारा 1950 में काठमांडू दुनिया के लिए खुल गया था। यह पर्वत रोही ट्रैकर और हैप्पी के लिए एक पर्यटक मढ़ बन गया था. वास्तव में पूरे देश की अर्थव्यवस्था दुनिया के संबंध में स्थिरता और सरकार की पारदर्शिता पर्यटन पर निर्भर करती है। नेपाल की दक्षिणी भूमि उपजाऊ है और इस से काठमांडू और उत्तरी प्रदेशों के केंद्रीय घाटियों का पोषण होता है।भारत को ऊर्जा देने वाली नदियां वही स्थित है और इसी कारण यह युवा राज्य मजबूत नहीं हो पाया है। नेपाल की मेरी पहली यात्रा में मैंने रूसी फोटो पोर्टल ज्योमेट्री.रु पर कई फोटो रिपोर्ट बनाई है और दुनिया के सबसे लोकप्रिय ट्रेक में से एक के बारे में छोटा सा वीडियो दर्ज किया है। अन्नपूर्णा की अगूंठी 8000 मीटर का मार्ग है जो पर्वत के चारों ओर है इसे उर्वरता की देवी कहते हैं। ट्रैक की ऊंचाई लाॅथोरूंग के पास 5016 मीटर की हो जाती है।यह पथ प्राचीन तीर्थ स्थानों को पार करते हुए तिब्बत जाता है मूरतांग राज्य के द्वारा गंडकी नदी की घाटी।यह पथ गंडकी नदी की घाटियों में जाता है जो विश्व की सबसे गहरी घाटियों में से एक है। इन घाटियों की उठती हुई दो उनकी चुटिया है जिन्हें हम अन्नपूर्णा और धौलागिरी कहते हैं। यह दृश्य वास्तव में बहुत सुंदर है.


बोरिस लिसानेविच
नेपाल के लिए एक रूसी प्रवासी, एक बैले नर्तकी, और एक होटल व्यवसायी और रेस्तरां मालिक था। बाद में उन्होंने नेपाल में पर्यटन के लिए मार्ग प्रशस्त किया, जब वह देश का पहला होटल, होटल रॉयल खोला मदद की, और जब वह याक और यति होटल और रेस्तरां बनाया।
नेपाल की प्राकृतिक सौंदर्य से परिचित होने के बाद हम उसकी राजनीतिक भूगोल के बारे में जानेंगे. दक्षिण नेपाल का छोटा भाग्य भारत से जुड़ा हुआ है यहां नेपाल 5 भागों से भारत से जुड़ा है। सबसे बड़ा और मुख्य जुड़ाव है बीरगंज। चीनी तिब्बत नेपाल से केवल एक पहाड़ से जुड़ा हुआ है जो कोडारि शहर में है वास्तव में तिब्बत के साथ नेपाल की कडियां हो सकती थी यदि उसके संबंधित चीन से ना होते यह याद रहे तिब्बत 50 वर्ष पूर्व एक स्वतंत्र राज्य था।बीसवी सदी के कई क्रांतियों ने हिंदू नेपाल राज्य को भी नहीं बख्शा।50 वर्षों से चली आ रही है खुली टकराव के कारण दो पार्टियों का निर्माण किया गया। हालांकि माओवादी कम्युनिस्ट पार्टी और यूनाइटेड मार्क्सवादी-लेनिनवादी पार्टी जल्दी शिव तारा और बौद्ध धर्म में विश्वास करने लगे पर वह एक लंबे गृह युद्ध के बिना ऐसा नहीं कर सके।
शायद इस संघर्ष के दौरान राजा की स्थिति नाम मात्र ही रह गई थी,लेकिन 2006 में राजा के सबसे बड़े बेटे ने अपने परिवार को मारकर स्वयं आत्महत्या कर ली,इसका कारण रोमियो और जूलियट की कहानी की तरह प्रेम कहानी है पर वह हमारे चिंता का विषय नहीं।कई दशकों से खोज करने के बाद नेपाल को एक आधुनिक लोकतांत्रिक गणतंत्र राज्य मिलाया एक धर्मनिरपेक्ष राज्य है जिसका संचालक राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी और प्रधानमंत्री प्रसाद शर्मा ओली करते हैं।जिन्होंने संविधान को सितंबर 2015 में कई बैठको और चर्चाओं के बाद अपनाया था।
नेपाल की एकीकृत कम्यूनिस्ट पार्टी (माओवादी)
वामपंथी उग्र तानाशाही राजनैतिक दल नेपाल में 1994 में स्थापित हुआ। अध्यक्ष काॅमरेड प्रचंड (पुष्पा कमल दहल)। माव जिडोंग की विचारधारा पर निर्दर्शित है यह पार्टी।यह प्रमुख गैर समाजवादी शक्तियों की परख करती है (रूस सहित) साम्राज्यवादी शक्ति के रुप में।
नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एमाले)
नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एमाले) नेपाल का एक साम्यवादी दल राजनीतिक दल है। १९९० में नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (माले) तथा नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के विलय से इस दल की स्थापना हुई।
इस दल का महासचिव Madhav Kumar Nepal है।
नेपाली कांग्रेस

नेपाली कांग्रेस नेपाल का एक समाजवादी लोकतांत्रिक राजनीतिक दल है। १९५० में नेपाल राष्ट्रीय कांग्रेस तथा नेपाल प्रजातान्त्रिक कांग्रेस के मिलन से इस दल की स्थापना हुई। यह दल से नेपाली कांग्रेस (प्रजातन्त्रिक) बाद मै अलग होकर निकल गया जिस के बाद नेपाल के राजनीति मै बहुत अस्थिरता दिख्ने लगा। अभी दो कांग्रेस मिलने का प्रयास कर रहे है।
इस दल का नेता सुशील कोइराला है।
इस दल का युवा संगठन नेपाल तरुण दल है।
मौ ने कहा कि तिब्बत चीन की हथेली है और कश्मीर भूटान नेपाल सिक्किम और लद्दाख उसकी पांच उंगलियां है जो भारत पर कब्जा करने के लिए काफी है।चीन के तमाम कोशिशों के कारण भी वह नेपाल पर कब्जा नहीं कर पाया है कारण यह है कि नेपाल और भारत के संबंध काफी गहरा है।उदाहरण के लिए नेपाल के दक्षिण में रहने वाले मधेशी लोगों को दोनों नेपाली और भारतीय कहा जाता है यहां की सीमा केवल एक औपचारिकता है यह स्थान एक आम सांस्कृतिक पृष्ठभूमि है जो आम हिंदू देवताओं को मानते हैं लेकिन उनकी यह आस्था उन्हें महान आर्थिक संकट से नहीं बचा सके।

माओ से-तुंग
माओ से-तुंग या माओ ज़ेदोंग (毛泽东, Mao Zedong अथवा Mao Tse-tung; जन्म: २६ दिसम्बर १८९३; निधन: ९ सितम्बर १९७६) चीनी क्रान्तिकारी, राजनैतिक विचारक और साम्यवादी (कम्युनिस्ट) दल के नेता थे जिनके नेतृत्व में चीन की क्रान्ति सफल हुई। उन्होंने जनवादी गणतन्त्र चीन की स्थापना (सन् १९४९) से मृत्यु पर्यन्त (सन् १९७६) तक चीन का नेतृत्व किया। मार्क्सवादी-लेनिनवादी विचारधारा को सैनिक रणनीति में जोड़कर उन्होंनें जिस सिद्धान्त को जन्म दिया उसे माओवाद नाम से जाना जाता है|
20 सितंबर 2015 को नेपाल ने संविधान को अपनाया था इसमें यह निश्चित हुआ है कि वह एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र है उसी समय भारत ने नेपाल में इंधन की पूर्ति करना बंद कर दिया।नेपाल में गैस और पेट्रोल के दाम काफी बढ़ गए थे काले बाजार में उसकी कीमत तकरीबन $5 हो गई थी।ऐसे समय में सारे शहर में स्कूटर की भीड जम गई थी।हालांकि देश के अधिकारियों ने इसका प्रचार नहीं किया आज इसके विपरीत लोग चाहते थे कि दुनिया उनके बारे में और नेपाल के बारे में जाने।

और ऐसे कठिन समय में हम काठमांडू पहुंचे।
काठमांडू। छतों के सिटी हजारों
काठमांडू एक दूसरी ग्रह की तरह था जो किसी दूसरे अंतरिक्ष स्टेशन पर स्थित है।यह थामेल में स्पष्ट दिखता है जहां की छते रंग-बिरंगी है और एक दूसरे से जुड़ी हुई है।
नेपाल का सफर मेरे लिए हमेशा असामान रहता है उस समय वहां के रुसी सांस्कृतिक केंद्र में हमारी और गुरुग्रंथ आॅरेनबगॆ वर्ग के कोमल शालू की प्रदर्शनी थी जिसे देखकर मैं दंग रह गया।
काठमांडू तस्वीरों पर एक नजर डालें
वहां हमें पता चला कि नेपाल में ईंधन का भाव है और ऐसे समय में वहां की सीमाओं में जाना उचित नहीं है।इसके पहले की नेपाल भूकंप के प्रभाव से उभरता इंधन के अभाव ने उनकी हालत और खराब कर दिए। सब कुछ तब घटा जब सारी अंतर्राष्ट्रीय एजेंसीयां केवल सीरियस और युक्रेन के बारे में चर्चा कर रही थे यह भूलकर की नेपाल के लोगों की स्थिति बहुत नाजुक थी क्योंकि वहां अनाज इंधन और दवाइयों का भाव था वह भी जाडे के समय।अनेक बच्चे भूकंप के पश्चात अनाथ हो गए पर्यटन गतिविधि की गिरावट न केवल व्यापार की जेब मारता है पर लोगों के जीवन पर भी उसका असर होता है क्योंकि उनका जीवन पर्यटन पर निर्भर करता है इसलिए यदि आप नहीं जानते कि आप को कहां जाना है तो आप नेपाल को चुने जिससे आपको आध्यात्मिक और भौतिक लाभ प्राप्त होगा और एक महान सहायता के आप पात्र बन जाएंगे।
पूरावशेषो और प्राचीन वस्तुओं के दुकान मालिक सुदिन लामसाल ने हमें बताया कि नेपाल में पर्यटकों के प्रवाह में कमी हुई है और भूकंप और बंद हालत की बहुत दिक्कत है।
नेपाल ट्रैकिंग और लंबी पैदल यात्रा के आयोजिका ने बताया कि भूकंप के कारण पहाड़ के मांगॆ को बंद कर दिया है।
पूरा सप्ताह हमने नेपाल की सांसारिक खूबसूरती को देखने में बिताया। हमारा ड्रोन हजारों खूबसूरत छतो के ऊपर से उड़ रहा था। हमने सड़क पर चलते हुए इंटरव्यू रिकॉर्ड किए हैं इसके बाद हम राष्ट्रीय उद्यान चितवन की सीमा के पास पहुंच गए।
चितवन। राइनो के साथ एक रात।
हम एक बंगले में रह रहे थे जो नदी किनारे था वह उद्यान और रहवासियों के बीच की प्राकृतिक सीमा थी।गेंडे के लिए सीमा पार करना कोई समस्या नहीं थी। शाम के समय मैंने गैंडे की आवाज को गाय की आवाज समझ के उसके काफी करीब पहुंच गया था कुछ 5 मीटर की दूरी से वह डायनासोर की तरह दिख रहा था मैंने उलटे कदम चलना शुरु किया और फिर भागने लगा। राइनो शहर में घुस गया और रात भर हमने आवाज सुनी राइनो राइनो खबरदार। उसी शाम में एक नेपाली शादी में गया जहां में दुल्हन के पिता के साथ नाचने लगा ,जिसने मुझे आश्वासन दिया कि काझाचोक नेपाल की राष्ट्रीय नृत्य है ।सुबह गैंडा फिर नदी किनारे पहुंच गया और अपने शरीर को हमारे बंगले पर मलने लगा जिस की आवाज में से हम सब सो नहीं पाए हैं।
राष्ट्रीय वन चितवन।

चितवन नेशनल पार्क नेपाल में यूनेस्को की विश्व विरासत की पहली वस्तु है।यह राजधानी काठमांडू से 200 किलोमीटर दूर है 1950 में यह 2600 स्कवेयर किलोमीटर की जगह में फैला हुआ था अवैध शिकार और हिंसात्मक के कारण 1960 तकिया केवल 900 किलोमीटर रह गया जब 70% वन नष्ट हो चुका था। 1950 में गैंडो की संख्या 900 थो और अब केवल 95 है।इस वन में मगरमच्छ, बंगाल बाघ, भालू ,हाथी, नेवला ,तेंदुआ और 543 पक्षियों की प्रजातियां हैं।

अगले दिन पार्क में हमने गाइड के साथ साक्षात्कार फिलमाया। तैराकी हाथी चालाक मगरमच्छ और घरों की खिड़कियां पर बने मधुमक्खियों के छात्ते को देखकर अच्छा लगा।मुडगे वहां का गाइड था उसने हमें नेपाल के अर्थव्यवस्था के बारे में बताया उसने अपने काम और वहां के जानवरों के बारे में भी बताया।
नेपाल में ड्रोन्स की स्थिति
6 नवंबर 2015 को नेपाल आर्मी भक्तिपूर्वक में छात्रों के साथ डेविड बेकहम की एक चेरिटी फुटबॉल मैच की शूटिंग के लिए ड्रोन का उपयोग करने के कारण बीबीसी के फिल्म कर्मचारियों पर प्रतिबंध लगाया गया था।राष्ट्रीय सुरक्षा की सामान्य चिंता का विषय है और नेपाल क्षेत्र पर ड्रोन के वैध उपयोग को नियंत्रित करने के लिए नए कानून की आवश्यकता व्यक्त की है।

परिणाम
अब हर व्यक्ति को ड्रोन की सहायता से सूट करना चाहता है उसे उठा यंत्रीकरण को अर्जी लिखना होगा मंजूरी और रिजल्ट की गया जीवों की संख्या सामान हो चुकी है।CAAN के नए लाइसेंस नियमों के द्वारा यह बताया गया है कि भूकंप की शूटिंग से उन लोगों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है जो नेपाल जाने के इच्छुक है।

क्यों कानून का शासन महत्वपूर्ण है?
सूचना और संचार मंत्रालय के अनुसार विशेष रुप से काठमांडू अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के शेत्र में नीचे उड़ान भरने वाले विमानों के डॉन से टकराने की संभावना बढ़ जाती है खासकर काठमांडू अंतरराष्ट्रीय हवाई सर के पास।नेपाल की सेना की चिंता का विषय यह भी है कि चीन के कुछ फौजी पकड़े गए थे जो ड्रोन द्वारा नेपाल के सशस्त्र बलों के मुखालै की शूटिंग कर रहे थे।

ड्रोन की महत्त्वपूर्णता
हालांकि ड्रोन का उपयोग शांतिपूर्ण उद्देश्य से किया जाता है बचाव कार्य के लिए हेलीकॉप्टर से काफी सस्ता पड़ता है और अवैध शिकार को रोकने के लिए भी उपयोग किया जाता है। यात्रा फिल्माने के लिए ड्रोन का उपयोग काफी मात्रा में किया जाता है। भूकंप से हुए विनाश के शूटिंग मे लगे यूएवी विवान संगठन के अधिकारी अभी भी नेपाल के क्षेत्र पर ड्रोन के उपयोग के बारे में सर्वसम्मति से दस्तावेजों को मंजूरी देने के लिए निश्चित नहीं है।
मैगी नेपाल के राष्ट्रीय वन चितवन का मार्गदर्शक। नेपाल की अर्थव्यवस्था। उनका काम और जंगली जानवरों का खतरा।
मेरे साथियों ने मुझे नेपाल भारत सीमा पर जाने से मना किया था जहां पुलिस के साथ मुठभेड़ हो सकता था पर मैं वहां के सबसे बड़े चौक पॉइंट पहुंचा जो बीरगंज का औद्योगिक केंद्र था जहां की स्तिथि में अपनी आंखों से देखना चाहता था।
बीरगंज
#MADHESISpeak

बस से बीरगंज जाना संभव नहीं था हम शहर से 30 किलोमीटर दूर एक गांव में ठहरे थे। बोर्डर केवल मोटरसाइकल या रिक्शा से जाना संभव था। आगे लोग टूटी-फूटी अंग्रेजी में शहर के बंद होने के बारे में चला रहे थे, रास्ते पर जली हुई बस खड़ी थी बिना कुछ सोचे समझे मै मोटरसाइकिल पर बैठा और बीरगंज पहुंच गया। सड़क के बगल में कतार से बंद गाड़ियां खड़ी थी कई साइकल और मोटरसाइकिल चालक धुंधली सड़कों पर प्रवास कर रहे थे।
बीरगंज की तबाही।
भूकंप के कारण होटल का मुख्य भाग टूट चुका था जिसके कारण छठी मंजिल के कमरे दिख रहे थे यह देखने के बाद शहर की खाली सड़के देखकर मैं आश्चर्यचकित नहीं हुआ रात शहर में सोच के जवान तैनात थे।शहर की सड़को पर राजनीतिक नारा लगाया जा रहा था या।फिर दीवारो पर नारा लिखा जा रहा था #madheshispeaks #मधेशीयौ की आवाज दीवारों पर लिखे गए नारे यह मैंने पहले कभी नहीं देखा यह सीधे सीधे तरीके से अपनी और केंद्रित करता है सबको की आवाज़ यह दृश्य देख कर मैं आश्चर्य चकित रह गया क्योंकि नेपाल में इंटरनेट के बाद 10% लोग चलाते हैं यह कारण है कि # कई लोग नहीं जानते।दीवारों पर लिखे गए नारे यह मैंने पहले कभी नहीं देखा यह सीधे सीधे तरीके से अपनी और केंद्रित करता है सबको।

#Madhesspeaks | रवि कुमार

हैशटैग का लेखक #मधेशीयौ की आवाज जिसे मैं अमेरिका में मिला है और वह नेपाली है जिसका नाम है रवि कुमार वह वाशिंग्टन में विश्व बैंक में काम करता है डिजिटल रणनीतिकार के रुप में।वह 'नेपाल के लिए कोड' का सह-संस्थापक है।वह नेपाल के लोगों को कंप्यूटर का ज्ञान देता है। रवि ने गैर सरकारी संस्थाओं के साथ मिलकर अपने राष्ट्र में एक लोकतांत्रिक राज्य की स्थापना करने का फैसला किया है। गैर सरकारी संस्था का नाम 'युवा मधेशी' है

रवि कुमार
मदेशिया का इतिहास
कौन है मधेशी?

मधेशी ये इंडो-आर्यन लोग है जो दक्षिण नेपाल में रहते हैं जो नेपाल की आधी जनसंख्या के जिम्मेदार है।

'वर्तमान की घटना'

2015 के पतझड़ में नेपाल में आर्थिक नाका बंदी हुई थी अधिकारियों ने भारत से भारतीय नेपालियों को जिम्मेदार माना है सिनेमा बंद करने के लिए जबकि भारतीय सरकार ने नई नेपाली सरकार को इसके लिए जिम्मेदार माना है जिन्होंने दक्षिणी सीमाओं को भारत के लिए बंद कर दिया है इसी कारण से खाद्य और इंधन का आभाव हो गया था।सीमा पर हुए मतभेद के कारण करीब 50 लोगों की जान चली गई बंद के कारण इंधन का दाम ऊंचाई छूं रहा है अनाज और दवाइयां सब का अभाव है।

'मधेशियों के विरोध का कारण'

नेपाल ने सितंबर 2015 में संविधान अपनाया था। नेताओं का कहना है कि मधेशी नेपाल के संविधान का उल्लंघन कर रहे थे राष्ट्रीय भाषा को अपनाने से मना कर रहे थे।नेपाल के संविधान ने नेपाल को 7 प्रांतों में विभाजित किया है और वह वहां के लोगों को केवल सरकार के प्रति प्रतिनिधित्व देता है।

'अब क्या होगा इस का परिणाम'

जनवरी के शुरुआत में भारत और नेपाल के बीच के रिश्ते ने आक्रमक चरण को पार कर दिया था भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विदेशियों को विरोध बंद करके सरकार से चर्चा करने की सलाह दी। स्थानिया मिडिया के अनुसार नेपाली सरकार ने रियायते देने का वादा किया है और उनके अधिकारियों को संविधान में स्वीकार करने के लिए कहा है इसके बावजूद भी मधेशी अधिकारियों के प्रति वे अस्त है।

मधेशियों की हड़ताल को युवा गणराज्य और भारत से भी प्रतिध्वनि मिली।दुर्भाग्य से जब मैं बीरगंज पहुंचा उस समय यह विरोध वहां की पुलिस के साथ मतभेद में बदल गया था। मधेशियो की तकलीफ को राष्ट्रीय महत्व केवल हाल ही के भूकंप के समय मिला।थोड़ी रोशनी होती ही मैं नेपाल के मुख्य द्वार पर पहुंचा यह चेकपाँइट था भारत और नेपाल के बीच का।

सड़कों पर केवल साइकिल और स्कूटर थी। बॉर्डर पर एंबुलेंस और यू•एन की जीप थी। द्वार मे विशाल मेहराब के माध्यम नेपालियों की बुरी स्थिति का प्रदर्शन हो रहा था।कचरे के पहाड़ पर भूखे गरीब पीड़ित बच्चे और सूअर दिख रहे थे।
हड़ताल पर बैठे हुए लोगों ने सब से यह कहा कि वह कोई आतंकवादी नहीं है और वह नेपाली सरकार के लिए कोई खतरा नहीं है। कुछ अंग्रेजी जानते हो न जाने वाले लोगों के साथ साक्षात्कार रिकॉर्ड करने के बाद में बिना किसी तकलीफ के बॉर्डर के पार पहुंचा।जो लोग हड़ताल पर बैठे थे वह सरकार से केवल न्याय चाहते थे यदि उन्हें न्याय नहीं मिला तो वह यह हड़ताल जारी रखेंगे।
वह ब्रिज जिसे दो देश जुड़े हुए हैं अब वहां छोटे-छोटे टैंट लगे हुए थे। मेरे साथ एक ऊंचे कद के जवान ने प्रवास किया जिसने ट्रैक सूट पहना हुआ था सभी फौजी उसे देख कर सलाम कर रहे थे। उसने मुझे विनम्रता से पूछा कि मैं वहां क्या कर रहा था तब मैंने उसे बताया कि मैं एक पत्रकार हूं और रूस से आया हूं यह सुनकर वह मुस्कुराया और कहा कि 'पुतिन तो राजा है 'और वह जाकर काली टाॅयोटा के पास जाकर खड़ा हो गया।फौजी जो मेरे पास खड़ा था उसने पूछने पर मुझे बताया कि वह संघीय निरीक्षक था।
जब मैं वापस होटल पहुंच आता मुझे वहां के दरबार ने शहर दिखाने का प्रस्ताव रखा,फिर हम छत पर गए जहां उसने अपने हिंदू मित्र के साथ मेरा परिचय कराया आज जिसका परिवार नेपाल में व्यापार करता है।हम सारे होटल की छत पर गए और साथ में फोटो खींची जिसमें मेरे दो नए मित्र थे और पीछे घंटाघर था जो बीरगंज शहर के मध्य क्षेत्र में है।

पोखरा नेपाल में रूसी पंख

जब मैं बीरगंज में काम कर रहा था उस समय लड़के पोखरा में आराम कर रहे थे। भूकंप और सीमा के गंभीर हालत के बावजूद भी वहां पर सुकून था वह जगह बिल्कुल नहीं बदली थी।यह उसी तरह था जिस तरह वह 60 साल पहले एक हीप्पि द्वारा खोला गया था तब से यह जगह संगीतकारों और कलाकारों के कलाकारों के लिए स्वर्ग बन चुका था।
शहर इस ट्रेक का शुरुआती बिंदु है और कई ट्रकों के शुरुआती बिंदु भी है जिनमें से अन्नपूर्णा की अंगूठी एक है।अगर छुट्टियों में हिमालय जाना है तो पोखरा सर्वोत्तम स्थान है। यह वास्तव में पर्यटक स्थान है। पोखरा को अपने अच्छे उड़ान परिस्थितियों के कारण रूसी क्लब द्वारा चुना गया था 25 साल पहले उनमें से एक चालक से मिलने के लिए मैंने अपना एक आदमी भेजा।
पैराग्लाइडर विटाली ट्सिफूनियम हमारे साथ थेजो मुझे 2013 में शारजाह में मिले थे।इसलिए ड्रोन उड़ाने और स्वंय उड़ान भरने के लिए हमें किसी ने भी मना नहीं किया।हमने जंगल और तालाब के ऊपर से कई उड़ाने भरी जहां पहाड़ माचापूचारे था। आगे दूर अन्नपूर्णा की अंगूठी आसमान को छू रही थी। मेरी सलाह ले तो यदि कोई नेपाल पर्यटन करना आया है तो उसे अन्नपूर्णा नेशनल पार्क जरूर जाना चाहिए।बीरगंज से लौटने के बाद मैं अपनी टोली में शामिल हो गया दुर्भाग्य से ऐसे स्वर्ग में हम ज्यादा देर तक नहीं रह सके।
विताली चिपलुखिन और पैराग्लाइडिंग क्लब।
'कोठारी चीनी चुप्पी'
1 दिन में हम चीनी सीमा पर पहुंच गए जहां अखबारों के अनुसार काठमांडू पोस्ट 6 ने चचेकपाॅइनट बने हुए थे हालांकि हकीकत में लोगों ने बताया कि अधिकतर तो केवल कागजों पर हैं।बस से कोडारी जाना बहुत ही कठिन था।

The Kathmandu Post
वाहन केवल बाराबीस शहर तक जाते थे जो भोटे और काशी नदियों के किनारों में स्थित था। एक नेपाली जोड़े ने हमें रात में रहने की पनाह दी, हमारे नए मित्र मां और बेटी दोनों ने हमारे लिए दाल भात बनाया हम अपने बिस्तर पर आग के किनारे काफी देर तक बातें करते करते सो गए।हम टीन के डब्बे में पनाह लेकर सोए हुए थे। भूकंप के बाद यही डब्बे कुछ समय के लिए लोगों का घर बन गया था ।

भोर होते ही हम बाराबीस से कोडारी के लिए निकल चुके थे। यदि भूकंप के परिणाम को किसी भी तरह से हटा दिया जाए तू भी कोडारी के पहाड़ों से गिरी चट्टानों ने सड़क की सारी बस्ती को नष्ट कर दिया था।
दो नेपालियों ने यह बताया कि भारत चीन और बाकी दूसरे देशों से आने वाले रस्सी जम्पंरो की संख्या घटकर शून्य हो गई थी।
बाराबीस से कोडारी का रास्ता बर्बाद हो चुका था जो एक बहुत ही बडी घाटी से होकर गुजरता है। यह जगह बहुत ही ज्यादा मशहूर थी अपने आकर्षण के लिए। लाॅस् रिसाटॆ नामक जगह भूतकाल में विश्व के सबसे बड़ी बंजी जंपिंग पॉइंट थी। (जिसे अब सूची ने बदल दिया है) लाॅसट रिसोर्ट अब केवल एक खाली ब्रिज बन कर रह गया है। जहां पर एक रस्सी लटकती रहती है। हॉट स्प्रिंग्स भी अब खाली है और वहां कोई पर्यटक नहीं है। कोडारी अब एक खंडर बन चुका है वहां के रहवासी ने नेपाल के सीमा गढ़ को छोड़ दिया हजब चीन के साथ किया व्यवहार भूकंप के कारण निरर्थक हो गया था।हमने एक दोस्ती के ब्रिज का फोटो लिया है जो तिब्बत और नेपाल को जोड़ता है।
चीन और नेपाल के बीच मैत्री का ब्रिज
ब्रिज पर हमारे पास एक पुलिस अफसर आया और उसने हमें चेतावनी दी कि हम शूट ना करें क्योंकि उन्हें कोई आपत्ति नहीं थी पर चीनी फौजियों की तस्वीरें ली तो ठीक नहीं होगा क्योंकि यदि उन्होंने देख लिया तो वह कैमरा तोड़ देंगे और कोई उनकी मदद भी नहीं कर पाएगा।वह थोड़ा ठहरा और फिर कहा की है जो ततिब्बत शहर देख रहे हो यह पूरा खाली है और केवल पुलिस है यहां।
यात्रा का निष्कर्ष

मैं छत पर बैठा था मसाला चाय पी कर शाम में शहर के तमाशे की आवाज को सुन रहा था यह काठमांडू में हमारे आखरी रात थी अगले दिन सुबह हम रूस के लिए उड़ान भरने वाले थे हमारी यहां यात्रा अपने अंत तक आ चुकी थी।

मैं यह आशा करता हूं कि चीन और भारत के बीच के संबंध मित्रता के नतीजे पर पहुंचे,उनके बीच की सीमाएं केवल लिखित में नहीं बल्कि हकीकत में खुल जाएं। हमें मधेशियों के तकनीकी राजनीतिक मतभेद के बारे में भी नहीं भूलना चाहिए जो बच्चों को लकड़ी का टुकड़ा पकड़ा गया था जिस पर लिखा था #मधेशिस्पिक्स। यह विचित्र नहीं लगता कि छोटे बच्चे जिन्हें यह भी नहीं पता कि वह किस लिए आंदोलन कर रहे हैं उनका उपयोग करना गलत है।वहां के बड़े लोग केवल बैठे हुए हैं उन्हें कुछ भी नहीं पता कि यह सब चर्चा बातचीत किस कारण हो रही है जब बेकसूर लोगों का खून बहा तब लोग इस हमठ इस से जुड़ गए। हम इस घटना को यूक्रेन से जोड़ सकते हैं यह मेरे लिए आश्चर्य की बात नहीं होगी यदि भारत पुनः इंधन की पूर्ति करने का निर्णय लेता है क्योंकि भारत को नेपाल की पनबिजली संयंत्रों की जरूरत है।

नेपाली सरकार को चुप नहीं बैठना चाहिए राष्ट्रीय एकता को अपना बल बनाकर आगे बढ़ना चाहिए उन्हें जानकारी बनाने की आधुनिक तरीकों को अपनाना होगा। उदाहरण हैशटैग।
हम अपने शोध को रूस मे भी बरकरार रखेंगे जहां हम कजाकस्तान और रूस किस सीमा के बारे में और उनके रिश्ते के बारे में जानेंगे। यह सीमा रूस की सबसे लंबी सीमा है हमारे लिए यह एक अच्छी बात है कि यह कजाकी और रुसी देशों के बीच के रिश्ते काफी अच्छे हैं और हम पूरी कोशिश करेंगे कि हम एक सकारात्मक दृष्टिकोण से नतीजे पर पहुंचे।

यात्रा के अंतिम सुबह मैं अपने साथियों से काफी जल्दी उठ गया कंबल फैकी और एक अच्छे और गरम स्नान का अनुभव किया। जैसे पानी भर रहा था मैंने छत की और देखा और मंदिर के संगीत की आवाज सुनाई देने लगी, मेरा नेपाल छोड़कर जाने का मन नहीं था विचार ऐसे खोने लगे जैसे ठंडे पानी में जंगली मधुमक्खी।

विश्व में तेल का युग समाप्त होने आया था जबकि नेपाल में यह शुरु ही नहीं हुआ था।नेपाल धीरे धीरे भविष्य की ओर बढ़ रहा है। रूस में अंतरिक्षयान इलोना माक्स अंतरिक्ष से लौट चुका था,और यहाॅ नेपाल के छत्तो के ऊपर सूरज चढ़ रहा था अपनी रोशनी से उन पर स्थित हजारो सोलार पैनल को प्रकाशित कर रहा था।